घिन्नी घाट को औद्योगिक क्षेत्र के रूप में विकसित किया जाएगा-हर्षवर्धन चैहान

उद्योग एवं संसदीय कार्य मंत्री हर्षवर्धन चैहान आज जिला सिरमौर के सराहां में आयोजित हो रहे तीन दिवसीय राज्य स्तरीय वामन द्वादशी मेला के समापन समारोह के अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित हुए। इस दौरान उन्होंने सभी क्षेत्रवासियों को मेले की बधाई दी और कहा कि मेले व त्यौहार हमारी पहाड़ी संस्कृति जीवंत रूप देते हैं, उन्होंने कहा कि मेले के आयोजन में जन सहयोग महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है वामन द्वादशी मेला न केवल आपसी  मेल-जोल बल्कि आर्थिक दृष्टि से भी अपनी एक विशेष पहचान रखता है। इस मेले के दौरान जिला व अन्य राज्यों के व्यापारी व कारोबारी
उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू साधारण परिवार से निकल कर आए हैं जो हमेशा प्रदेश को मॉडल राज्य के रूप में आगे लाने में प्रयासरत हैं। घिन्नी घाट क्षेत्र को औद्योगिक क्षेत्र के रूप में विकसित करने की मांग पर उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास रहेगा कि बददी, कालाअंब व पांवटा साहिब औद्योगिक क्षेत्र की तरह पच्छाद विधानसभा क्षेत्र के घिन्नी घाट को औद्योगिक क्षेत्र के रूप में पहचान बनेगी व साथ ही हजारों युवाओं को रोजगार भी उपलब्ध होगा।
हर्षवर्धन चैहान ने कहा कि आपदा के कारण प्रदेश में 450 से अधिक लोगो की जान गई है तथा 12 हजार करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है। इसके लिए प्रदेश सरकार ने प्रदेश में राष्ट्रीय आपदा घोषित करने के लिए प्रस्ताव पारित कर केन्द्र सरकार को भेजा है। परन्तु खेद का विषय है कि विपक्षी दलों ने इस प्रस्ताव का समर्थन नही किया।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में आई आपदा तथा सीमित संसाधनों के बावजूद मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू के नेतृत्व में प्रदेश में विकास कार्यों को थमने नहीं दिया गया है।
उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार को 4 साल के कार्यकाल में प्रदेश के विकास की याद नही आई और अन्तिम वर्ष में बिना बजट प्रावधान के अनेक संस्थान खोल दिये गए। इन संस्थानों के लिए स्टाफ व भवन का भी कोई प्रावधान नहीं किया गया। बिजली विभाग में पिछले कई सालों में मात्र 4 कार्यालय खुले थे, जबकि पूर्व की सरकार ने 34 कार्यालय बिना बजट प्रावधान के ही खोल दिये।
उन्होंने कहा कि आने वाले समय में सराहां अस्पताल को 100 बिस्तरों की सुविधा प्रदान कर दी जाएगी तथा कन्या वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सराहां के पुराने हो चुके भवन को गिराकर नया भवन बनाया जाएगा।
उन्होंने कहा कि वह पूरे प्रदेश के मंत्री है जिस कारण व्यस्तता अधिक बड जाती है इसके बावजूद भी क्षेत्र के लोग अपनी समस्याओं को लेकर उनके समक्ष कभी भी उपस्थित हो सकते है तथा उनके द्वारा समस्याओं का निराकरण करने का पूर्ण प्रयास किया जाएगा। इस अवसर पर उद्योग मंत्री ने मेले पर प्रकाशित  स्मारिका का विमोचन किया।
इस मौके पर सांसद सुरेश कश्यप व विधायक रीना कश्यप ने अपने संबोधन में क्षेत्र के विकास को लेकर चर्चा की।
इस अवसर पर कांग्रेस प्रदेश सचिव दयाल प्यारी ने मुख्य अतिथि का स्वागत करते हुए कहा कि आपदा की घड़ी में प्रदेश के मुख्यमंत्री व प्रदेश सरकार आमजन के साथ खडी रही है। उन्होंने घिन्नी घाट को औद्योगिक क्षेत्र बनाने के साथ विभिन्न मांगों को लेकर मांग पत्र भी सौपा।
उद्योग मंत्री ने विभिन्न विभागों, स्वयं सहायता समूहों व स्थानीय लोगों द्वारा लगाई गई विभिन्न प्रदर्शनियों का अवलोकन किया तथा मेले के दौरान आयोजित हुई विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कार वितरित किए। पुरुष वर्ग में आयोजित कुश्ती मुकाबले में गुड़गांव के आशीष ने माली जीती जिसे 51 हजार रुपये तथा उपविजेता दिल्ली के प्रशांत को 31 हजार रूपये का नगद पुरस्कार प्रदान किया। महिला कुश्ती में सोनीपत की काजल को प्रथम पुरस्कार के रूप में 21 हजार तथा दिल्ली की बबीता को 11 हजार का द्वितीय पुरस्कार प्रदान किया गया।
इस अवसर पर जिलाध्यक्ष आनंद परमार, सचिव महिला कांग्रेस राजेश्वरी शर्मा, एसडीएम एवं सदस्य सचिव मेला कमेटी डाॅ. संजीव धीमान, जिला परिषद सदस्य नीलम शर्मा, अध्यक्ष ब्लाक कांग्रेस कमेटी पच्छाद जगत सिंह व अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *