सभी बैंक लोगों को उपलब्ध करवाएं सुलभ बैंकिंग सुविधाएं – उपायुक्त

उपायुक्त किन्नौर तोरुल एस रवीश ने सभी बैंकों को लोगों के लिए सुलभ बैंकिंग सुविधाएं उपलब्ध करवाने की दिशा में करने का आग्रह किया। इसके अतिरिक्त उन्होंने बुजुर्गों के लिए बैंकिंग सेवाओं की आसान पहुँच भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।
उपायुक्त आज यहां उपायुक्त कार्यालय के सभागार में आयोजित जिला समन्वय समिति व जिला स्तरीय समीक्षा समिति की त्रैमासिक बैठक की अध्यक्षता कर रही थी।
बैठक में बताया गया कि जिला में विभिन्न बैंकों की कुल 51 शाखाएं हैं और 37 एटीएम हैं जिस पर उपायुक्त ने सभी बैंकों को एटीएम सुविधा सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए कहा कि जिन बैंकों के एटीएम जिला में नहीं हैं वह भी एटीएम सुविधा जल्द शुरू करें। उन्होंने कहा कि अन्य क्षेत्रों की तरह ही शिक्षा के क्षेत्र में भी लोगों को अधिक ऋण उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ज्ञानदीप योजना के तहत बैंक छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए ऋण उपलब्ध करवाएं क्योंकि इस योजना के तहत सरकार द्वारा अनुदान भी दिया जाता है। इसके अतिरिक्त, उन्होंने सभी बैंकों को वर्ष 2022-23 के लिए निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए बेहतर प्रदर्शन करने के लिए कहा।
बैठक में बताया गया कि जिला में 31 दिसंबर 2022 तक क्रेडिट जमा अनुपात 42.24 प्रतिशत रहा है जोकि सितंबर त्रैमास से 2.96 प्रतिशत कम है। उपायुक्त ने कम क्रेडिट जमा अनुपात वाले बैंकों को इसे बढ़ाने की दिशा में कार्य करने के निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त, उन्होंने प्रधानमंत्री जन-धन योजना, प्रधान मंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधान मंत्री सुरक्षा बीमा योजना, अटल पेंशन योजना तथा मुद्रा योजना के तहत पंजीकरण बढ़ाने के निर्देश दिए।
उन्होंने बैंको को वित्तीय साक्षरता के तहत चलाए जाने वाले कार्यक्रमों को बढ़ावा देने को कहा तथा सभी बैंकों को प्रति शाखा एक वित्तीय साक्षरता शिविर का आयोजन हर माह करने के लक्ष्य देने के निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त उन्होंने बैंकों को ग्राम सभा के दौरान भी लोगों को वित्तीय साक्षरता प्रदान करने के निर्देश दिए ताकि अधिक से अधिक लोगों को जागरूक और शिक्षित किया जा सके। उन्होंने ऐसे क्षेत्रों को चिन्हित करने के निर्देश दिए जहाँ बैंक शाखाएं कम हैं या नहीं हैं तथा वहां बैंक मित्र की उपस्थिति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए जिससे लोगों को सरकार व बैंको द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं की जानकारी समय पर प्राप्त हो सके और बैंकिंग सुविधाएं भी उपलब्ध हो सकें।
बैठक में बताया गया कि मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के तहत 97 मामले स्वीकृत हुए हैं और कुछ मामले बैंकों के पास लंबित हैं जिसपर उपायुक्त ने मामलों में तेजी लाने के लिए हर पखवाड़े पर उनकी अध्यक्षता में बैठक आयोजित कर संबंधित बैकों के साथ लंबित मामलों के निपटारे करने के निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त, उन्होंने किसान के्रडिट कार्ड योजना के तहत सभी लाभार्थियों को रूपे कार्ड उपलब्ध करवाने तथा उन्हें इसका समय-समय पर इस्तेमाल करने बारे जागरूक करने के निर्देश दिए।
बैठक के दौरान आरबीआई के सहायक महाप्रबंधक अमरेंद्र गुप्ता ने सभी बैंकों से उनकी प्रगति रिपोर्ट की समीक्षा करते हुए निर्धारित लक्ष्य में तेजी लाने को कहा। उन्होंने जिला के बैंकों द्वारा वार्षिक ऋण योजना के तहत तीसरे त्रैमास में 90 प्रतिशत तक की उपलब्धि की सराहना की। उन्होंने बैंक मित्र की सक्रीय निगरानी करने के निर्देश देते हुए यह सुनिश्चित करने को कहा कि कोई भी बैंक मित्र निष्क्रिय न हो।
लीड बैंक के एल.डी.एम तिलक डोगरा ने बैठक की कार्यवाही का संचालन किया और विभिन्न योजनाओं के तहत आवंटित राशि का ब्यौरा दिया। उन्होंने विश्वास दिलाया कि इस वित्त वर्ष के दौरान निर्धारित लक्ष्य को समय पर पूरा कर दिया जाएगा।
बैठक में नाबार्ड के जिला विकास प्रबंधक विजय नेगी सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा जिला के विभिन्न बैंकों के प्रतिनिधि भी उपस्थित रहे।