जिला में प्रस्तावित औद्योगिक परियोजनाओं व ईकाइयों संबंधी प्रक्रिया में लाई जाए तीव्रता – उपायुक्त ऊना

 ऊना जिला में प्रस्तावित औद्योगिक परियोजनाओं को गति प्रदान करने के उद्देश्य से जिला मुख्यालय ऊना में एक बैठक आयोजित की गई जिसकी अध्यक्षता उपायुक्त ऊना राघव शर्मा ने की।
बैठक में जिला में प्रस्तावित बल्क ड्रग पार्क, फार्मा फार्मुलेशन पार्क बीटन, टूल रूम प्रोजैक्ट, एचपीसीएल के ईथनोल प्लांट, ग्रीन-को कम्पनी के अलावा निर्माणाधीन व प्रस्तावित औद्योगिक  क्षेत्रों की कार्य प्रगति बारे विस्तृत चर्चा की गई। बैठक में उपायुक्त ने उद्योग विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिला में प्रस्तावित सभी औद्योगिक परियोजनाओं व ईकाइयों को अमलीजामा पहनाने के लिए त्वरित व आवश्यक कदम उठाएं जाएं ताकि जिला व प्रदेश के साथ निवेश के अलावा रोजगार के अधिक से अधिक अवसर पैदा हो सके।
इस अवसर पर प्रस्तावित बल्क ड्रग के विषय में जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि 1923 करोड़ रूपये की लागत से बनने वाले बल्क ड्रग पार्क के निर्माण के लिए 225 करोड़ रूपये की पहली किश्त स्वीकृत हो चुकी है। इस बल्क ड्रग पार्क के लिए 35 करोड़ रूपये की पेयजल योजना तथा लगभग 100 करोड़ रूपये की विद्युत प्रोजैक्ट की डीपीआर तैयार हो चुकी है। इसके अलावा सड़क निर्माण व सीवरेज़ सहित अन्य कार्यों से संबंधित डीपीआर प्रक्रिया जारी है।
उपायुक्त ऊना ने बताया कि जिला में गत दो वर्षों के दौरान ठठल चक्क तथा जीतपुर बेहड़ी औद्योगिक क्षेत्र अधिूसचित किए गए हैं। उन्होंने बताया कि जिला के नए औद्योगिक क्षेत्र पंडोगा में कुल 70 औद्योगिक प्लांट विकसित किए गए हैं जिनमें से लगभग 65 औद्योगिक प्लांट विभिन्न औद्योगिक ईकाइयों को आवंटित किए जा चुक हैं जिनमें से 15 औद्योगिक ईकाइयों ने उत्पादन आरंभ कर दिया है तथा शेष औद्योगिक ईकाइयों की निर्माण प्रक्रिया जारी है। उपायुक्त ने उद्योग विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे जिला की सभी प्रस्तावित औद्योगिक परियोजनाओं व औद्योगिक ईकाइयों की स्थापना संबंधी प्रक्रिया में तीव्रता लाई जाए।
बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त महेंद्र पाल गुर्जर, संयुक्त निदेशक उद्योग विभाग अंशुल धीमान सहित उद्योग विभाग के अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।